RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

September 30, 2022 2:03 AM

RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

September 30, 2022 2:03 AM

सोनिया गांधी पर ईडी की पूछताछ पर भड़के विधायक अनूप नाग, बोले सियासत के लिए बीजेपी कर रही एजेंसियों का दुरुपयोग

अंतागढ़/ट्रैक सीजी:

अंतागढ़ विधायक अनूप नाग ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर ईडी द्वारा कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी को पेशी पर बुलाने को बदले की राजनीति करार देते हुए कहा हैं की आप सबको मालूम है कि ED ने पिछली बार राहुल गांधी जी को बुलाया था और 5 दिन तक, 50 घंटे से अधिक समय तक उनसे पूछताछ की, पूरा देश देख रहा था और आज सोनिया गांधी जी को दूसरी बार बुलाया गया है, जिनके बारे में पूरा मुल्क जानता है कि वो एक ऐसी नेता हैं जिन्होंने पूरे देश का दिल जीता है, जिस रूप में उन्होंने यूपीए का गठन किया, फील गुड और इंडिया शाइनिंग के नारों को हराया जो कि आर्टिफिशियल थे, जिन्होंने डॉ. मनमोहन सिंह जी को प्रधानमंत्री बनाया, प्रधानमंत्री पद कोई छोड़ सकता है क्या ? और जिंदगी में एक तरफ तो भारतीय संस्कार, संस्कृति उन्होंने आत्मसात् की, क्या-क्या बातें उनके बारे में नहीं कहीं जा रही थीं जब राजीव जी की शहादत हो गई थी ? और जिस महिला नेता के रूप में उन्होंने देखा है, एक पारिवारिक महिला के रूप में भी कि उनके हाथों में इंदिरा गांधी की शहादत हुई, जो एक महान नेता थीं देश की ।

You might also like

*बीजेपी ने अपने लिए और देशवासियों के लिए बना रखे दो अलग कानून*

हम जानते हैं, मानते हैं कि कानून सबके लिए एक समान होता है, पर केंद्र की भाजपा सरकार में कानून सबके लिए समान नहीं है। इनके लिए जो एनडीए में आता है, घुस जाता है, बीजेपी जॉइन कर लेता है, उसके लिए कानून बदल भी जाता है, बीजेपी ने जो 2 कानून बना रखे हैं देश के लिए, विपक्ष के लिए अलग है और इनके खुद के लिए अलग है, इस प्रकार आज ये मुल्क चल रहा है और ऐसा केस हाथ में लिया गया है, जिसका हक है ही नहीं ईडी को, मनी लॉन्ड्रिंग कहां हुई है? ईडी को चाहिए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करे, देश को बताए कि हम राहुल गांधी जी को, सोनिया गांधी जी को क्यों बुला रहे हैं, इनके ऊपर अमुक-अमुक आरोप इस प्रकार के हैं जो कि ईडी में आते हैं।

मैं कहना चाहूंगा कि जो बेरोजगारी है, महंगाई है, आर्थिक स्थिति डांवाडोल है, 80 रुपए क्रॉस कर गया है डॉलर, ये चिंता का विषय होना चाहिए, जो चुनौतियां देश के सामने हैं सरकार देशवासियों का ध्यान इससे हटाकर अपने तय एजेंडे की ओर आकर्षित करना है ।

मुझे चिंता है कि जो प्रीमियर एजेंसीज हैं ईडी, सीबीआई, इनकम टैक्स, उसकी क्रेडिबिलिटी को बीजेपी वाले कम कर रहे हैं दबाव देकर और इतना दबाव उनके ऊपर है और आप देख रहे हो कि दबाव में काम कर रहे हैं, प्राइवेटली वो खुद ही कह रहे हैं कि हम क्या कर सकते हैं, ऊपर से आदेश आता है एक दिन पहले कि कल छापा डालो, जबकि पहले रैकी होती है, असेसमेंट होता है, उसके बाद में छापे पड़ते हैं, पर यहां तो और ही चल रहा है। तो ये मामले बड़े गंभीर हैं और जो हालात सबके सामने हैं ।

*भारत जोड़ो अभियान से मोदी शाह चिंतित :- नाग*

सोनिया गांधी जी को आज दुबारा ईडी दफ्तर में बुलाना मैं इसकी निंदा करता हूं, इनको चाहिए था कि उनके घर जाकर वो बयान लेते उनके अगर लेना ही था तो, पहले तो कोई दम है नहीं इस केस के अंदर, नेशनल हेराल्ड जबसे मैं राजनीति में आया हूं, तबसे देख रहा हूं कि ऊपर जवाहर लाल नेहरू का नाम लिखा होता है नेशनल हेराल्ड के अंदर संस्थापक के रूप में, कांग्रेस का वो अखबार है साथ ही उदयपुर डिक्लेयरेशन जिसमें पदयात्रा के प्रोग्राम भी थे, 2 अक्टूबर से भारत जोड़ो अभियान था, डिक्लेयरेशन के अंदर जो भावना प्रकट हुई है देशवासियों के सामने कांग्रेस की, उससे मोदी जी और अमित शाह जी चिंतित हो गए, उसी दिन से तय कर लिया और तत्काल नोटिस दिए गए सोनिया जी को और राहुल जी को और उसी ढंग से आप देख रहे हो कि जो तमाशा हो रहा है देश के अंदर ।

*सोनिया गांधी के त्याग को देश कभी भुला नहीं सकता*

जिस प्रकार की संस्कृति, संस्कार सोनिया जी ने अपनाए देश के अंदर, हिंदुस्तान की एक महिला जो है उससे वो कम नहीं हैं, बल्कि आज लोहा मानती हैं महिलाएं भी, पूरा देश लोहा मानता है, जिस रूप में सोनिया जी में अपना जीवन व्यतीत किया है और पार्टी के लिए जो जान लगा दी इन्होंने, उसको कांग्रेसजन कभी भूल नहीं सकता । इस परिवार की साख आज 70 साल के बाद भी है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Also Read