RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

October 7, 2022 2:43 AM

RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

October 7, 2022 2:43 AM

बालवाड़ी केन्द्रों के प्रभारी शिक्षकों का द्वितीय दिवस का प्रशिक्षण सफलतापूर्वक सम्पन्न

बालवाड़ी केन्द्रों के प्रभारी शिक्षकों का द्वितीय दिवस का प्रशिक्षण सफलतापूर्वक सम्पन्न

You might also like

संवाददाता गौरव चंद्राकर महासमुंद जिला ब्यूरो

पिथौरा- विकासखंड स्तरीय पांच दिवसीय बालवाली प्रशिक्षण सह कार्यशाला का द्वितीय दिवस का प्रशिक्षण आरंभ वन काष्ठागार में कुशल प्रशिक्षकों एवं शिक्षकों की उपस्थिति में राज्यगीत से किया गया। इसके बाद प्रथम दिवस की गतिविधियों पर आधारित प्रतिवेदन का पठन शिक्षक अशोक भाई एवं किरण ठाकुर के द्वारा किया गया। इस द्वितीय दिवस के प्रथम सत्र का मुख्य अतिथि पूर्व विकास खंड शिक्षा अधिकारी एमआर प्रधान थे। अध्यक्षता विकासखंड के प्रथम राज्यपाल पुरस्कृत सेवानिवृत्त शिक्षक जीआर टंडन ने की एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में विकासखण्ड परियोजना अधिकारी साक्षरता विभाग के एफए नंद उपस्थित रहे। प्रशिक्षण में उपस्थित सभी शिक्षकों को मुख्य अतिथि श्री प्रधान ने संबोधित करते हुए कहा कि एक बीज से अंकुरित पौधे को माली जिस प्रकार देखभाल करता है,उसी प्रकार आप सभी शिक्षक छोटे बच्चों को लगन के साथ शिक्षा देने का काम करें।कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे श्री टण्डन ने कहा कि सभी शिक्षक समर्पण एवं अपनत्व की भावना के साथ कार्य करना अपना कर्त्तव्य समझें। इस सत्र का कुशल संचालन बीआरसीसी अतुल प्रधान ने एवं आभार प्रदर्शन एफए नंद ने किया। इस प्रशिक्षण सह कार्यशाला में मास्टर ट्रेनर उत्तमकुमार साहू,श्रीमती हेमलता प्रधान एवं अनिल पटनायक ने सहभागी शिक्षकों को साक्षरतातक विकास,ध्वनि जागरूकता,राष्ट्रीय शिक्षा नीति,इक्कीसवीं सदी के कौशल,शारीरिक विकास,व्यक्तिगत सामाजिक, बौद्धिक विकास एवं भाषा का प्रभाव के बारे में विस्तार से जानकारी देकर प्रशिक्षित किया गया। द्वितीय सत्र में महासमुंद से प्रशिक्षण जिला नोडल अधिकारी राकेश चंद्राकर एवं कौशलेश सिंह का आगमन हुआ। उन दोनों निरीक्षण अधिकारियों का शिक्षकों ने पुष्पगुच्छ से स्वागत किया। इस दौरान श्री चंद्राकर ने शिक्षकों का प्रशिक्षण की बारीकियों को बताकर मार्गदर्शन किया। जिससे हर शिक्षक उनसे काफी प्रभावित हुआ। प्रशिक्षण व्यवस्था में समन्वयक नीतेश साहू,बालाराम दीवान,टेक राम निषाद,विक्रमसिंह वर्मा एवं प्रधानपाठक छबिराम पटेल,अंतर्यामी प्रधान का सराहनीय योगदान रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Also Read