RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

October 7, 2022 2:15 AM

RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

October 7, 2022 2:15 AM

आज से अंतागढ़ में रेल सेवा शुरू, पर स्टेशन पहुंच मार्ग में भ्रष्टाचार का पलीता

अंतागढ़/ट्रैक सीजी:

दशकों के इंतजार के बाद अंततः लोगों को आज से रेल सेवा मिलने जा रही है, लोगों में खुशी का माहौल है किंतु अंतागढ़ से रेलवे स्टेशन तक पहुंचने वाली सड़क जिसकी लंबाई 1.80 किलोमीटर है और जिसका निर्माण रावघाट लौह अयस्क खदान परियोजना निगमित सामाजिक उत्तरदायित्व अर्थात सीएसआर के तहत कराया गया है, वह सड़क भ्रष्टाचार की वजह से पहली बारिश में ही अपना अस्तित्व खोती नज़र आ रही है।

You might also like

बता दें करीब तीन करोड़ चार लाख की लागत से इस सड़क का निर्माण कराया गया है, यहां यह भी जानना जरूरी है की यह अंतागढ़ से चारगांव जाने वाली सड़क है जिसे प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के माध्यम से बनाई गई थी किंतु इसी मार्ग में ग्राम कुहचे के समीप रेलवे स्टेशन का निर्माण किया गया जो अंतागढ़ मुख्यमार्ग से 1.80 किलोमीटर की दूरी पर है ।

अब रेलवे ने ठेकेदार के माध्यम से पहले से बनी सड़क में तीन करोड़ चार लाख खर्च कर स्टेशन जाने वाले यात्रियों की सुविधा के लिए पुरानी सड़क में चौड़ीकरण कर रंग रोगन कर दिया जिसकी लंबाई मात्र 1.80 किलोमीटर है, पर विडंबना यह है की यात्रियों की सुविधा के लिए बनाई गई यह सड़क यात्रियों के लिए ही मुसीबत का सबब बनने लगी है।

बारिश के पहले बनाई गई इस सड़क में जगह जगह गड्ढे हो गए हैं, और ऐसे में चारगांव से निकलने वाली लौह अयस्क से भरी ट्रकों की वजह से ये सड़क और भी जानलेवा हो गई है।

लोगों का कहना है की जब रेल आयेगी और लोगों की भीड़ स्टेशन की ओर रुख करेगी ऐसे में चारगांव से सैकड़ों की संख्या में निकलने वाली ट्रकों और ये जर्जर सड़क किसी भी हादसे को अंजाम दे सकती है इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता।

यहां यह बताना भी जरूरी है की अंतागढ़ क्षेत्र में सड़कों में किए जाने वाले भ्रष्टाचार की वजह से कई हादसे हो चुके हैं, जगह जगह सड़क में हुए गड्ढे बारिश के पानी में दिखाई नही देते और ऐसे में लोग हादसों का शिकार हो जाते हैं, विशेषकर प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना द्वारा बनाई जाने वाली सड़कों का हाल तो कुछ महीनों में ही जर्जर हो जाता है, पांच साल की वारंटी सिर्फ बोर्ड में लिखी होती है जबकि वास्तविकता यह है की इन सड़कों को बनाए जाने के बाद दोबारा कार्य एजेंसी द्वारा इन सड़कों को देखा ही नहीं जाता।

इस विषय में अंतागढ़ के अतिरिक्त कलेक्टर चंद्रकांत वर्मा ने कहा की वो कल जाकर सड़क की स्थिति देखकर कलेक्टर कार्यवाही हेतु कलेक्टर कांकेर को अवगत कराएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Also Read