RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

October 7, 2022 1:31 AM

RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

October 7, 2022 1:31 AM

पी.व्ही.110 में घटित घटना हेतु मुआवज़े की राशि स्वीकृत

अंतागढ़-पखांजूर/ट्रैक सीजी:

पी.व्ही.110 में परिमल मल्लिक व उनके परिवार के साथ जो दुर्घटना घटित हुई है वह अविश्वसनीय है, इस विषय में क्षेत्रीय विधायक नाग ने कहा कि इस घटना से हम समस्त को विचलित कर दिया है, व हम सभी शोककुल हैं।

You might also like

विधायक ने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश के पश्चात् मृतकों के निकटतम वारिश हेतु मुआवज़े के रूप में बीस लाख रूपये स्वीकृत हो चुके हैं।

नाग आगे कहते हैं कि हम मृतकों के परीजनो का दुःख तो कम नही कर सकते परंतु एक जनप्रतिनिधि होने के नाते हम हर सम्भव प्रयास कर रहे हैं और आगे भी करते रहेंगे।

अंत में विधायक नाग ने कहा कि “मैं पीड़ित परिवार का दर्द समझ सकता हूं” मैं जानता हूं कि किसी भी प्रकार की मुआवज़े या सहयोग की राशि मृतकों को पुनः जीवित नहीं कर सकती और ना ही उनकी पीड़ा, दुःख व दर्द कम कर सकता है। विधायक नाग ने नम आँखों से कहा- मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि ईश्वर समस्त मृतकों की आत्मा को शांति प्रदान करे व परिजनो को इस दुःख को सहने की शक्ति प्रदान करे।

ज्ञात हो जिले के बांदे थाना के अंतर्गत इरपनार क्षेत्र के पीवी 110 (मनीपुर) गांव में एक घर के दीवार गिरने से पांच लोगों की मौत हो गई थी। जिसमें परिमल मल्लिक (38), सुमित्रा मल्लिक (30) उनकी तीन बेटीयां प्रतिभा मल्लिक (8), प्रीति मल्लिक (4) तथा श्रीती मल्लिक (5 माह) की मौत हो गई। यह घटना रविवार और सोमवार की दरमियानी रात की है जहां परिमल मल्लिक अपनी पत्नी सुमित्रा मल्लिक व अपनी तीन बेटियों प्रतिभा, प्रीति और श्रीति के साथ सो रहे थे। लगातार हो रही वर्षा से कच्चे मकान की दीवार ढह गई और उसमें दब जाने से परिवार के समस्त सदस्य की मौत हो गई।

मूसलाधार बारिश से ढही मकान

बता दें, 15 अगस्त को कुरेनार नदी में बाढ़ होने की वजह से स्थानीय पुलिस प्रशासन द्वारा अंतागढ़ विधायक अनूप नाग को मृतको के परिजनों से मिलने नदी के उस पार जाने नहीं दिया गया। जिसके चलते विधायक अनूप नाग 16 अगस्त को हेलीकाप्टर से मृतको के स्वजनों से मिलने पहुंचे और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की, साथ ही आपदा आहत राशि जल्द से जल्द दिलाने का वायदा भी किया था।

वहीं घटना की जानकारी के बाद पखांजूर तहसीलदार स्थानीय प्रशासन के साथ तत्काल मौके पर पहुंच गए थे, साथ ही स्थानीय विधायक अनूप नाग 15 अगस्त को घटनास्थल तक जाने के लिए नदी तक पहुंच नाव की भी व्यवस्था की ताकि पुलिविहीन नाला पार कर शोकाकुल परिजनो से मिल सके, साथ ही कलेक्टर और एसपी भी नदी तक पहुंचे। विधायक ने नदी पार कर शोकाकुल परिवार से मिलने का भरसक प्रयास किया, लेकिन पुलविहीन नदी उफान पर होने के चलते प्रशासन ने विधायक को नदी पार करने नहीं दी। पूरे घटनाक्रम में विधायक अनूप नाग ने गहरा शोक व्यक्त करते हुए रीति रिवाजों के अनुसार कार्यक्रम के लिए व्यतिगत अपनी ओर से 25 हजार रूपए की नगद राशि भी परिजनों को सौंपी व साथ ही प्रशासनिक तमाम राहत पहुंचाने का आश्वासन भी दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Also Read