RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

October 1, 2022 12:42 PM

RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

October 1, 2022 12:42 PM

स्वामी विवेकानंद स्कूल में छेड़छाड़,संगीत शिक्षक गिरफ्तार आगे किसकी बारी..

भिलाई( आदित्य लाऊंत्रे) बात को रही है कोहका के एक निजी स्कूल की जहा दिनाक 01-09-2022 को समय लगभग दोपहर 1:00 बजे करीब स्कूल के ही संगीत के शिक्षक द्वारा सातवी कक्षा की बच्ची को गलत नीयत से छेड़ खानी की गई ।इसके बाद इस घटना की पूरी जानकारी बच्ची द्वारा क्लास टीचर्स को दी गई,क्लास टीचर्स द्वारा तत्काल इस बच्ची को घटना की पूरी जानकारी प्राचार्य चाणक राम साहू को देने के लिए कहा गया, प्राचार्य को घटना की जानकारी मिलने के पश्चात इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया गया, दिनाक 02- 09- 2022 को भी स्कूल के छात्रों द्वारा भी इसमें कार्यवाही करने हेतु प्राचार्य से मांग की गई।धीरे – धीरे इस मामले की सुगबुगाहट पूरे स्कूल में फैल गई,इसके बाद दिनाक 03-09-2022 को घटना की जानकारी जैसे ही परिवार के सदस्यो को पता चला उनके द्वारा तत्काल इसकी जानकारी स्मृति नगर चौकी प्रभारी को दिया गया,जिस पर तत्काल FIR दर्ज किया और आरोपी शिक्षक को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया ।

You might also like

 

इस घटना की जानकारी मिलने पर युवा कांग्रेस के जिलाध्यक्ष प्रत्याशी सादिक रजा ने स्कूल व चौकी प्रभारी को ज्ञापन सौंपा उनका कहना था कि जब प्राचार्य को इस घटना की जानकारी मिली तब उनको तत्काल परिवार के सदस्यो को जानकारी दे कर पुलिस को भी बुलाया जाना था,उनके इस लापरवाही रवैया के कारण प्राचार्य पर भी अपराध पंजीबद्ध कराया जाना चाहिए ।उन्होंने भी अपराधी का सहयोग किया है ।

युवा कांग्रेस के सादिक रजा ने स्कूल समिति को सौंपा ज्ञापन

 

स्कूल के समिति द्वारा प्राचार्य व हेड शिक्षिका को निकाला गया – जैसे ही घटना की जानकारी स्कूल समिति को मामुल चली,युवा कांग्रेस के सादिक रजा ने भी प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपा उसके पश्चात आनन- फानन में स्कूल की समिति ने मिटिग बुलाया और तत्काल प्राचार्य व हेड शिक्षिका को स्कूल से पद मुक्त किया गया ।

परिवार के सदस्यो का यह भी आरोप है कि प्राचार्य द्वारा उन्हें बात दबाने के लिए दबाव बनाया जा रहा था।

ट्रैक सीजी को परिवार द्वारा दिया गया बयान

 

अब देखना यह होगा कि पुलिस द्वारा प्राचार्य के ऊपर अपराध पंजीबद्ध किया जाएगा या नही ?नियमता इस गंभीर मामले में आरोपी का साथ देने वाला भी अपराधी की श्रेणी में आता है,प्राचार्य द्वारा दो दिनों तक बात दबाना समझ से परे है ।

 

चूकि प्राचार्य द्वारा ही संगीत के शिक्षक को रखा गया था,सूत्रो के हवाले से यह भी खबर है कि बिना किसी डिग्री के संगीत के शिक्षक को रखा गया था वो भी इसलिए क्योंकि प्राचार्य के उनसे मधुर संबंध थे,मजे की बात यह है की दोनो का निवास रामनगर ही है ।

अब आगे क्या – पूरा मामला अब पुलिस के पाले में है अब देखना होगा की उनके द्वारा क्या कार्यवाही की जाएगी यह अब जांच का विषय है।जबकि परिवार के सदस्यो का साफ़ – साफ कहना है की प्राचार्य ने घटना दबाने की भर पूर कोशिश की उसके साथ ही हमारे ऊपर भी दबाव बनाया गया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Also Read