RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

September 30, 2022 1:17 AM

RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

September 30, 2022 1:17 AM

शारदीय नवरात्र को लेकर गुजराती समाज की बैठक संपन्न

अंतागढ़/ट्रैक सीजी:

26 सितंबर से प्रारंभ होने वाले देवी आस्था के महापर्व शारदीय नवरात्र पर जगत जननी माँ अम्बे की स्थापना एवं पारम्परिक रास गरबा के भव्य आयोजन को लेकर गुजराती मित्र मंडल गुजराती समाज अंतागढ़ द्वारा समाज के प्रमुख रमेश ठक्कर के निवास स्थान में एक विशेष बैठक आहूत की गई।

You might also like

इस बैठक में 26 सितम्बर से प्रारम्भ होने वाले शारदीय नवरात्र की तैय्यारियों के संबंध में विषयवार चर्चा की गई। जिसमें सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया कि समाज के वरिष्ठ मुकेश ठक्कर के व्यावसायिक प्रतिष्ठान के पास ही उनके गोदाम प्रांगण में आकर्षक पंडाल सज़ावट के साथ ही विधिवत रूप से माँ अम्बे की स्थापना कलश और गरबे की थाप के साथ की जाएगी, इसके साथ ही गुजराती लोकनृत्य, गरबा एवं डांडिया रास जैसे रंगारंग कार्यक्रम पूरे नौ दिवस तक प्रतिदिन रात्रि में आयोजित किए जाएंगे। यही नहीं अपितु नवरात्र के पूरे नौ दिनो तक संध्याकाल में आदिशक्ति माँ अम्बे की पूजा व आरती के साथ ही मातासेवा जसगीत का भी आयोजन किया जाएगा।

विदित हो कि, पिछले 54 वर्षों से गुजराती समाज अंतागढ़ द्वारा प्रतिवर्ष नवरात्र में भव्य आयोजन पूरे हर्षोल्लास से किया जाता है।

बता दें, इस वर्ष शारदीय नवरात्रि पर घटस्थापना का शुभ मुहूर्त 26 सितम्बर को प्रातः छः बजकर ग्यारह मिनट से प्रारम्भ होकर संध्याकाल में सात बजकर ईक्यावन मिनट तक है, वहीं माँ दुर्गा की उपासना का पर्व नवरात्र 26 सितम्बर से प्रारंभ होकर 05 अक्टूबर तक है।

इस अवसर पर समाज प्रमुख रमेश ठक्कर, मुकेश ठक्कर, जयंती रूपारेल, नारायण रूपारेल, दीपक रूपारेल, भगवती ठक्कर, निर्मलाबेन रूपारेल, रुखमणीबेन ठक्कर, लताबेन चंदे, सागर चंदे, राधा चंदे, किशोर चंदे, आशीष ठक्कर, मनीष ठक्कर, नम्रताबेन रूपारेल, अरुणा रायकुंडलिया, ज्योतिकाबेन रूपारेल, कविताबेन ठक्कर, दिव्याबेन रूपारेल, कमलेश ठक्कर, प्रशांत ठक्कर, चिराग़ ठक्कर वरुण ठक्कर, प्रीतिबेन ठक्कर, वैशालीबेन ठक्कर, ख्यातिबेन रायकुंडलिया, लीना रायकुंडलिया, यज्ञा रायकुंडलिया, सिद्धि ठक्कर, ऐनी ठक्कर, सोनम ठक्कर, श्लोक ठक्कर, कनुप्रिया ठक्कर, वीणा ठक्कर, प्रांज़ल चंदे, सारांश रायकुंडलिया, उत्सव चंदे, काव्यांश रायकुंडलिया, नेहा चंदे, विपिन चंदे, जयेश रायकुंडलिया, प्रशांत रायकुंडलिया, प्रखर रूपारेल सहित समाज के अन्य जन भारी संख्या में उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Also Read