RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

October 7, 2022 12:53 AM

RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

October 7, 2022 12:53 AM

प्रत्येक व्यक्ति के पास अनिवार्य रूप से हो आयुष्मान कार्ड- श्री सिंहदेव स्वास्थ्य मंत्री ने आयुष्मान जागरूकता रैली में 2 किलोमीटर चलाई साइकिल छात्रों को बांटे गए आयुष्मान कार्ड

प्रत्येक व्यक्ति के पास अनिवार्य रूप से हो आयुष्मान कार्ड- श्री सिंहदेव
स्वास्थ्य मंत्री ने आयुष्मान जागरूकता रैली में 2 किलोमीटर चलाई साइकिल
छात्रों को बांटे गए आयुष्मान कार्ड

अम्बिकापुर ट्रैक सीजी
छत्तीसगढ़ शासन के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री टीएस सिंहदेव शुक्रवार को आयुष्मान भारत योजना अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग विभाग द्वारा आयोजित साइकिल रैली में शामिल हुए। उन्होंने रैली में करीब 2 किमी साइकिल चलाकर आयुष्मान कार्ड कार्ड बनाने लोगों को प्रोत्साहित किया। रैली अम्बिकापुर के मणीपुर स्कूल से प्रारंभ होकर शासकीय बहुउद्देश्यीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के प्रांगण में सम्पन्न हुई। रैली के पश्चात शासकीय बहुउद्देश्यीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के सभागार में आयोजित कार्यक्रम में अतिथियों के द्वारा छात्र छात्राओं को आयुष्मान कार्ड का वितरण किया गया।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए स्वास्थ्य मंत्री श्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि लोगों को स्वास्थ्य रहने व शारीरिक फिटनेस के पीती जागरूक करने के लिए साइकिल रैली निकाली गई। कोई बीमार नहीं पड़ना चाहता लेकिन जब बीमार पड़ जाते है तो कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। लोगों को बीमारी के ईलाज की सुविधा देने के लिए सरकार आयुष्मान कार्ड बनाकर दे रही है। जब सरकार आयुष्मान कार्ड के जरिये सबके लिए ईलाज की व्यवस्था कर रही है तो इसे बनवाने में पीछे न रहे। हर व्यक्ति के पास अनिवार्य रूप से आयुष्मान कार्ड होनी चाहिए। वर्तमान में एक रुपये प्रति किलोग्राम चावल प्राप्त करने वाले राशन कार्ड धारियों के लिए 5 लाख तक तथा अन्य राशन कार्ड धारियों के लिए 50 हजार रुपये तक की ईलाज के लिए आयुष्मान कार्ड प्रत्येक व्यक्ति के लिए बनाई जा रही है। प्रदेश में करीब 58 लाख परिवारों को 5 लाख रुपये की ईलाज की व्यवस्था की जा रही है।
श्री सिंहदेव ने कहा कि यूनिवर्सल हेल्थ केयर के तहत आयुष्मान कार्ड को हेल्थ कार्ड के रूप में पहचान पत्र बनाने की दिशा में कार्य करने पर विचार किया जा रहा है। हेल्थ कार्ड में व्यक्ति की पूर्व इलाज की पूरी जानकारी संग्रहित रहेगी। प्रत्येक हेल्थ कार्डधारी का अपना पासवर्ड रहेगा जिसको स्वयं ऑनलाइन खोल सकेंगे और देश के किसी भी अस्पताल में ईलाज कराने पर पूर्व ईलाज की पूरी जानकारी मिल जाएगी। हेल्थ कार्ड बनाने की दिशा में आयुष्मान कार्ड पहला चरण है। इसलिए सबसे पहले सभी आयुष्मान कार्ड बनवाएं। उन्होंने कहा कि वर्तमान में आयुष्मान कार्ड, डॉ खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना तथा मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना के माध्यम से ईलाज की व्यवस्था की जा रही है। 5 लाख तक की ईलाज की सीमा को सभी के लिए 10 लाख तक करने पर भी विचार किया जा रहा है।
जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्री आदित्येश्वर शरण सिंहदेव ने कहा कि वर्तमान में बीपीएल परिवार को 5 लाख तक तथा मुख्यमंत्री विशेष सहायता योजना अंतर्गत गंभीर बीमारी की ईलाज के लिए 20 लाख तक की व्यवस्था है। सभी अपना आयुष्मान कार्ड बनवाएं। इससे ईलाज कराने में आसानी होगी। उन्होंने कहा कि लोगों को आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए प्रोत्साहित करें।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ पीएस सिसोदिया ने कहा कि आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए नगर निगम के सभी वार्डों में शिविर लगाए जा रहे है। अब तक जिले में 57 प्रतिशत लोगों ने आयुष्मान कार्ड बनवाया है।
इस अवसर पर जिला पंचायत सदस्य राकेश गुप्ता, पार्षद शैलेन्द्र सोनी एवं प्रमोद चौधरी सहित स्थानीय जन प्रतिनिधि, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारी तथा बड़ी संख्या में स्कूली बच्चे उपस्थित थे।

You might also like

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Also Read