RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

December 8, 2022 5:00 AM

RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

December 8, 2022 5:00 AM

न्यायालय तहसीलदार अपने स्थंगन आदेश का पालन कराने में असमर्थ कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नही अनूपपुर जिले में टैक सी जी न्यूज संभाग प्रमुख महेंद्र श्रीवास्ताव

You might also like

न्यायालय तहसीलदार अपने स्थंगन आदेश का पालन कराने में असमर्थ कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नही अनूपपुर जिले में टैक सी जी न्यूज संभाग प्रमुख महेंद्र श्रीवास्ताव
अनूपपुर जिले में कुछ दिनों से कानून व्य्वस्था इतना लचर है कि श्रीमान् अनूपपुर तहसीलदार के आदेशों का खुले आम अधिनस्त कर्मचारियों के द्वारा आदेशों की धज्जिया उड़ाई जा रही है माननीय तहसीलदार महोदय अनूपपुर के द्वारा पारित आदेश को उनके कर्मचारी ही नही बल्कि यहां तक की अतिक्रमण कारी, अवैध कब्जे धारी भी अब खुलेआम आदेशों को मानने को तैयार नही है इसका जीता जागता उदाहरण देखने को मिल रहा है कि जनपद पंचायत जैतहरी के ग्राम पंचायत परसवार में तहसीलदार अनूपपुर के द्वारा एक स्थंगन आदेश दिनांक 01/09/2022 को पारित कर आराजी खसरा नं0 549/4 पर अवैध रूप से मकान निर्माण को रोकने के लिए सुविधा संतुलन बनाये रखने हेतु एक आदेश आगामी आदेश तक के लिए स्थंगन की कार्यवाही की गई तथा लेख किया गया की संबंधित पटवारी, राजस्व निरीक्षक,पुलिस मौके पर जाकर हो रहे निर्माण कार्य को अतिशीघ्र रोके परंतु कार्य रोकने के आदेश के बाद भी निर्माण कार्य और जोरों से चलाया जा रहा है जिस न केवल अनूपपुर की कानून व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह है साथ ही उन लोगों के भी हौशले बुलंद है जिनके उपर स्थंगन आदेश की कार्यवाही होनी थी कानून को पालन करने वाले दर-दर भटक रहे है और कानून का न पालन करने वाले की बल्ले -बल्ले है जो व्यक्ति कानून के हिसाब से चलता है वह व्यक्ति आज असमनजश में है कि मुझे भी क्या अब इस प्रकार से कानून से भरोसा छोड़ देना चाहिए इसी तार तम में ग्राम पंचायत परसवार के वयों वृद्ध शंकर वर्मा पिता देवादिन वर्मा ने अपनी आप बिती बताते हुए टैक सी जी न्युज के संभाग प्रमुख महेंद्र श्रीवास्तााव बताया कि मेरे भूमि पर रंगीलाल यादव, भोला यादव, मनोज यादव, के द्वारा घर निर्माण का कार्य अतिक्रमण कर कराया जा रहा है जिसकी शिकायत मेरे द्वारा तहसीलदार अनूपपुर, पटवारी पसरवार, राजस्व निरीक्षक, थाना प्रभारी अनूपपुर, पुलिस अधीक्षक अनूपपुर को समस्या से अवगत कराया जिस पर श्रीमान् अनूपपुर के द्वारा स्थंगन आदेश पारित किया गया है परंतु लचर कानून व्यवस्था के चलते स्थंगन आदेश को कोई अधिनस्‍त सक्षम अधिकारी पालन नही करा सका और निर्माण कार्य जोरों पर है जिससे की अब मुझे बेवश होकर कानून व्यवस्था पर भरोसा करना उचित समझ में नही आता है क्योंकि अनूपपुर में कानून नाम की कोई चीज नही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Also Read