RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

December 8, 2022 4:03 AM

RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

December 8, 2022 4:03 AM

नक्सलियों ने पूर्व उपसरपंच को मारी गोली

अंतागढ़/ट्रैक सीजी:

दो दिनों पूर्व कोयलीबेड़ा ब्लाक के मरकानार क्षेत्र में नक्सलियों द्वारा आईईडी विस्फोट किया गया जिसमें एक जवान घायल हो गया था, वहीं आज कोयलीबेड़ा ब्लाक के ही ग्राम चारगांव में पूर्व उपसरपंच सियाराम रामटेके को नक्सलियो ने गोली मारी जो कि सियाराम के पेट और पैर में लगी।

You might also like

घायल पूर्व उपसरपंच सियाराम रामटेके

वहीं पुलिस द्वारा इस बात की पुष्टि नहीं की गई है की इस वारदात के पीछे नक्सलियों का हाथ है या कोई आपसी रंजिश की वजह से यह किया गया कृत्य है।

बता दें सियाराम को कुछ वर्ष पूर्व नक्सलियों द्वारा चेतावनी देने की बात सामने आई थी, वही चारगांव मेटाबोदेली माइंस की स्थानीय समिति में सियाराम की कुछ साल पहले ट्रक चलती थी साथ ही सियाराम माइंस प्रभावित क्षेत्र द्वारा बनाई गई स्थानीय समिति में उपाध्यक्ष के पद पर था, किंतु कुछ वर्षों से सियाराम ने अपनी ट्रकों को बेच दिया गया था साथ ही अपने खेती के कार्य में लग गया था।

फिलहाल सियाराम की स्थिति स्थिर बताई जा रही है, जिन्हे अंतागढ़ में प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल कांकेर रेफर किया गया है।

आज सुबह सियाराम अपने खेत में कार्य में व्यस्त था तभी कुछ लोगों ने सियाराम पर हमला कर दिया, जिसमे किस गन गोलियां सियाराम को मारी गई ये स्पष्ट नहीं हो पाया ।

बता दें कुछ महीनों में नक्सलियों की गतिविधि अचानक क्षेत्र में बढ़ने लगी है, कुछ सालों से सुप्त अवस्था में पड़े नक्सलियों द्वारा लगातार अपनी उपस्थिति क्षेत्र में दिखाई जा रही है।

बैनर पोस्टर में शहीद सप्ताह या क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों को बात हो कुल मिलाकर नक्सली एक्टिव मोड में पुनः क्षेत्र में आ गए हैं ऐसा माना जा सकता है।

आज चारगांव में हुई घटना के बाद अंतागढ़ के अनुविभागीय अधिकारी अमर सिदार मौके पर पहुंच चुके थे, और उनसे बात करने पर उन्होंने कहा की अभी स्थिति स्पष्ट नहीं हो पाई है की यह नक्सलियों द्वारा की गई कार्यवाही है या आपसी रंजिश को लेकर किया गया वारदात, सारी बातें जांच के उपरांत ही स्पष्ट हो सकेंगी।

यदि नक्सलियों ने इस घटना को अंजाम दिया है तो अक्सर ऐसे मामलों की जिम्मेदारी बकायदा प्रेस नोट जारी कर लेते हैं, बहरहाल अभी स्थिति स्पष्ट नहीं है किंतु माना जा सकता है दो चार दिनों में स्थित स्पष्ट हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Also Read