RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

November 27, 2022 1:35 AM

RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

November 27, 2022 1:35 AM

32% आरक्षण को लेकर आदिवासी सर्व आदिवासी समाज के लोगों ने मगरलोड में किया विशाल प्रदर्शन

32% आरक्षण को लेकर आदिवासी सर्व आदिवासी समाज के लोगों ने मगरलोड में किया विशाल प्रदर्शन

You might also like

जिला अध्यक्ष जीवराखन लाल मरई के नेतृत्व में हजारों की संख्या में जुटे सर्व आदिवासी समाज के लोग
घंटो चक्का जाम, आवाजाही रही बाधित
महा व्यापारी संघ मगरलोड ने दिया बंद का समर्थन

मगरलोड/ट्रैक सीजी/एसकुमार साहू
जिला धमतरी के सर्व आदिवासी समाज जिला अध्यक्ष जे एल मरई के नैतिक एवं मार्गदर्शन में 18 अक्टूबर को ब्लॉक मुख्यालय में लगभग 10,000 की संख्या में सर्व आदिवासी समाज के लोगों ने जमकर हल्ला बोला है। आदिवासी समाज का अधिकार एवं 32% आरक्षण की मांग को लेकर राज्य शासन के विरोध में रैली व सभा का आयोजन किया गया। ब्लॉक मुख्यालय मगरलोड में स्थापित बुढ़ा देव मंदिर में पूजा अर्चना कर नगर भ्रमण रैली जुलूस निकाला गया एवं मगरलोड की हृदय स्थल में लगभग 3 घंटे से चक्का जाम कर आवागमन को रोक दिया गया जिस पर पुलिस प्रशासन को भारी मशक्कत करनी पड़ी रैली रामलीला मैदान में विशाल सभा का आयोजन किया गया।

सर्व आदिवासी समाज के विशाल आम सभा को धमतरी जिला के अध्यक्ष जीवराखन लाल मरई ने कहा की संविधान द्वारा प्रदत्त शक्तियों को हटाया नहीं जा सकता हम अपना अधिकार मांग रहे हैं हम किसी से भीख नहीं मांग रहे हैं हमारी संवैधानिक अधिकार को हम लोकतंत्र तरीका से शासन से मांग कर रहे हैं अधिकांश विधायक हमारे समाज का होने के बाद भी हमारा समाज को सड़क की लड़ाई लड़ना पड़ रहा है यह बहुत ही सोचनीय विषय है इस बात की सोच हमारे आदिवासी जनप्रतिनिधियों को करनी चाहिए उन्होंने आड़े हाथों लेते हुए कहा सिहावा विधानसभा की विधायक को आज यहां आना चाहिए लेकिन वह समाज के प्रति अपने दायित्वों को पूर्ण नहीं कर पा रहा है जिसे आने वाले समय में सर्व आदिवासी समाज के लोग चुनाव मे रोचक परिणाम देखने को मिलेगा

सर्व आदिवासी समाज कर्मचारी संगठन के अध्यक्ष रोहित दीवान ने कहा हमारा समाज सर्वाधिक जनसंख्या होने के बाद भी हमें आज आदिवासी भाइयों के साथ सड़क पर आकर हल्ला बोलना पड़ रहा है जो बहुत ही शर्मनाक है हमारे अधिकार को छीनने वाले को समाज आने वाले चुनाव में अपनी ताकत दिखाएगी

सर्व आदिवासी समाज के वरिष्ठ पोखन लाल कंवर ने कहा समाज के द्वारा ही आज इस प्रदेश में हमारे अधिकांश विधायक हैं लेकिन इस वक्त पर हमारा संवैधानिक अधिकारों के प्रति लड़ाई जनप्रतिनिधियों द्वारा नहीं लड़ी जा रही है जिसके लिए आज हमारे भोले भाले सर्व आदिवासी समाज के भाइयों बहनों के साथ राज्यपाल मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौपना पड़ रहा है हमारे समाज के संविधानिक अधिकार को छीनने वाले यह समझ जाएं कि आने वाले चुनाव में इसका असर व्यापक रूप से देखना होगा अगर हमारी मांग पूरा नहीं होता तो राजधानी की सड़कों पर हमारी लड़ाई होगी जिसके लिए सरकार जिम्मेदार होगा

सर्व आदिवासी समाज नेत्री चमेली नेताम ने कहा हमारी मांग जायज है सरकार को 32% आरक्षण देना चाहिए जिससे हमारे समाज का विकास निरंतर होगा और यह समाज लगातार शिक्षा की ओर अग्रसर हो रहा है आज सर्व आदिवासी समाज के लोगों को उच्च पदों पर बैठने के लिए कोई रोक नहीं सकता जिसका परिणाम आज इस वृहद सभा में दिख रहा है

सर्व आदिवासी समाज के नेता एवं सोनझरी सरपंच भुनेश्वर ठाकुर ने कहा आदिवासीयो की संस्कृति की पहचान है हमारे बढ़ते प्रभाव को देखकर सरकार अब आरक्षण को कम करने का षड्यंत्र रचा जा रहा है इसके लिए हमारा समाज डटकर मुकाबला करेगा संवैधानिक अधिकारों को कोई छीन नहीं सकता हम लगातार इसकी लड़ाई लड़ेंगे

सर्व आदिवासी समाज प्रमुखों ने समाज के अधिकार जल जंगल जमीन सहित 32% आरक्षण को 20% आरक्षण करने पर राज्य शासन की निंदा किया है। सर्व आदिवासी समाज मे कंवर समाज, ध्रुव समाज, हल्बा समाज, पनिका समाज, कमार समाज सहित लगभग 10 हजार सर्व आदिवासी समाज के लोगों ने एकजुट होकर हल्ला बोला है। सर्व आदिवासी समाज ने अपने महत्वपूर्ण मांग लेकर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन मगरलोड के मुख्य चौक में चक्का जाम किया सर्व आदिवासी समाज के लोगों ने मांग में बताया कि पेशा कानून नियम में ग्राम सभा का अधिकार कम नहीं किया जाए, बस्तर सरगुजा में तृतीय एवं चतुर्थ वर्ग भर्ती शत-प्रतिशत स्थानीय किया जाए, केंद्र द्वारा वन अधिकार संरक्षण अधिनियम 2022 को लागू नहीं किया जाय, हसदेव अरण्य क्षेत्र में आदिवासी एवं पर्यावरण संरक्षण में कोल खनन बंद किया जाय। कार्यक्रम अवसर पर सर्व आदिवासी समाज धमतरी जिला अध्यक्ष जे एल मरई, प्रदेश सचिव विनोद नागवंशी, जिला उपाध्यक्ष गायत्री कंवर, चमेली नेताम, युवा प्रभाव सचिव वेद राम दीवान, धमतरी राज महामंत्री टिकेंद्र कंवर, राजा राम कंवर, गजेंद्र कंवर सहित हजारो सामाजिक गण शामिल हुये। अंत में राज्यपाल, अपर सचिव, मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन तहसीलदार विवेक गोहिया को सौंपा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Also Read