RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

February 7, 2023 8:27 PM

RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

February 7, 2023 8:27 PM

*महिला स्व-सहायता समूह द्वारा बनाया जा रहा है गोबर के दीये अब तक 12 हजार रूपये का विक्रय*

*महिला स्व-सहायता समूह द्वारा बनाया जा रहा है गोबर के दीये
अब तक 12 हजार रूपये का विक्रय*

You might also like

कांकेर / ट्रैक सीजी( डॉ रमाशंकर श्रीवास्तव द्वारा 20 अक्टूबर 2022ः-राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन-बिहान अंतर्गत जिले में गठित स्व-सहायता समूह की महिलाओं द्वारा दीपावली त्यौहार के अवसर पर गोबर से दीये बनाये जा रहे हैं। गोबर के दीयों को जिले में स्थापित सी-मार्ट सहित अन्य स्थानीय बाजारों एवं शासकीय कार्यालयों में स्टॉल लगाकर बेचा जा रहा है। जिले के गायत्री महिला स्व-सहायता समूह गढ़पिछवाड़ी, आमाबेड़ा के जगदस्बे समूह एवं शीतला समूह, कलगांव के उन्नति समूह, पोड़गांव के युक्ति समूह, डोंडे के सतगुरू समूह, पुत्तरवाही के वर्शा समूह एवं कुरना के नारी निकेतन समूह द्वारा गोबर से लगभग 30 हजार दीये बनाये जा रहे हैं, जिसमें से लगभग 12 हजार दीयों की बिक्री समूह द्वारा किया जा चुका है। गोबर से निर्मित दीयों के साथ महिलाओं द्वारा रंगोली, धूपबती एवं मोमबती का भी निर्माण किया जा रहा है।
उल्लेखनीय है कि स्व-सहायता समूह की महिलाओं द्वारा गोबर के दीयों का निर्माण लगभग पिछले 4 वर्शों से किया जा रहा है। गत वर्श जिले में 11 समूह की महिलाओं द्वारा 25 हजार नग गोबर के दीये बनाकर बाजारों एवं स्थानीय स्तर पर बेचा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Also Read

दुर्घटनाग्रस्त प्लेन हो रहा कबाड़, अमेरिकन कंपनी को ही बेचा जाएगा राज्य सरकार की जांच रिपोर्ट में तथ्य सामने आए थे कि प्लेन की सुरक्षित लैंडिग की जिम्मेदारी कैप्टन माजिद अख्तर की थी -ट्रैक सी जी न्‍यूज संभाग प्रमुख महेन्‍द्र  श्रीवास्‍तव

32 पन्नों की हिंदी-अंग्रेजी और 20 की विज्ञान-गणित की रहेगी उत्तरपुस्तिका माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल (बोर्ड) इस साल से 10वीं और 12 के विद्यार्थियों को पूरक परीक्षा कापी नहीं देगा  -ट्रैक सी  जी न्‍यूज संभाग प्रमुख महेन्‍द्र श्रीवास्‍तव

उमा भारती ने शराब की दुकान के सामने बांधी गाय, मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दी प्रतिक्रिया -ट्रैक सी जी न्‍यूूज संभाग  प्रमुख महेनद्र श्रीवास्‍तव उमा भारती ने शराब की दुकान के सामने गायों को बांधकर घास