RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

December 8, 2022 4:41 AM

RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

December 8, 2022 4:41 AM

अखिर डिजिटल इण्डिया का सपना शासन के द्वाराही चुरचुर किया जा रहा है – टैक सी जी न्‍यूज संभाग प्रमुख महेन्‍द्र श्रीवास्‍तव

अखिर डिजिटल इण्डिया का सपना शासन के द्वाराही चुरचुर किया जा रहा है – महेन्‍द्र श्रीवास्‍तव

अनूपपुर । जिला अंतर्गत बिजली विभाग द्वारा ग्रामीण जनता  को बिजली चोरी का नोटिस देकर नेशनल लोक अदालत के तहत बिजली रीकाबरी राशि जमा करने के लिए प्रकरण  वितरण केन्‍द्र कार्यालय अनूपपुर के द्वारा समझौतेके आधार पर लोक अदालत स्‍कीम  1997 के अनुसार दिनांक 12/11/22 को सुनवाई के  लिए नोटिस तलब किया गया जबकि नोटिस दिनांक 09/11/22 को बिजली कार्यालय के कनिष्‍ठ अभियान्‍ता के कार्यालय से समझौता कर्ता तक पहुचाने  तक दिनांक 11/11/22 को किसी अन्‍य के द्वारा नोटिस थमा दि गई परंतु दिनांक 12/11/22 को प्रार्थी केद्वारा घबड़हाट में पैसे की व्‍यवस्‍थानही कर सका परंतु उसके द्वारा  अन्‍य सहयोगीयों से फोन पे केमाध्‍यम से पूरी राशि उधार लेकर समझौता करना  चाहा परंतु यह  कैसा डिजिटल इण्डिया है जो शासकिय कार्यालयों में  लागू नही होता और प्रार्थी दरदर को  भटक कर अपनी  गाथा बतारहा है इसी तारतम में अम्‍बरसिंह पिता कृृृृष्‍णभान सिंह ठाकुर मौहल्‍ला परसवार में  आपबिती हुई बताया की मेरे पास  नगद राशि नही और मेेेरे  फोन पे  के द्वारा मैं नेशलनलोक अदालत अनूपपुर  में बिजली विभाग के  द्वारा भेजे हुए  नोटिस के तहत जुर्माना राशि जमा करना चाह  रहा हूं  परंतु  बिजली विभाग के द्वारा मुझे से नगद  राशि मांगी  जा रही है जबकि  देश के प्रधान मंत्री डिजिटल इण्डिया की बात करते है और शासन के द्वारा ही उसे मानने कोतैयार नही है  यदि आज देश में डिजिटल इण्डिया लागू  होता तोमेरा आजके  लोग  अदालत में समयसीमा के भीतर निराकरण हो जाता अखिर डिजिटल इण्डिया सपना एक ढ़कोशला है।

You might also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Also Read