RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

February 7, 2023 9:02 PM

RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

February 7, 2023 9:02 PM

राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग के नोटिस के बाद भी अब तक मोहन मरकाम की गिरफ्तारी क्यों नहीं? – भाजपा

ट्रैक सीजी न्यूज़:

भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं विधि विभाग के प्रमुख नरेश गुप्ता ने कांकेर पुलिस अधीक्षक को राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग द्वारा दिए गए नोटिस का हवाला देते हुए कांग्रेस सरकार से यह प्रश्न पूछा है कि आयोग के नोटिस के बाद भी अब तक कोई कार्यवाही क्यों नहीं हुई?

You might also like

गुप्ता ने कहा पीड़िता का नाम उजागर करना पूर्णतः कानून का उल्लंघन है, इसमें किसी भी प्रकार की संशय की बात नहीं है। सब कुछ स्पष्ट होने के पश्चात् भी पूर्व में तो कांकेर के जनप्रतिनिधियों द्वारा शिकायत करने पर कोई कार्यवाही नहीं हुई और अब बाल संरक्षण आयोग द्वारा नोटिस थमाने के बाद भी अब तक कार्यवाही नहीं हुई है। कांग्रेस के नेता क्या कानून से बड़े हो गए हैं? कांग्रेस सरकार यह बताएं कि मोहन मरकाम पर कार्यवाही कब होगी?

बता दें, विगत 20 नवम्बर को कांग्रेस द्वारा कांकेर में प्रेस कान्फ्रेंस कर वर्तमान में भानुप्रतापपुर विधानसभा उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी ब्रह्मानंद नेताम पर नाबालिग से अनाचार व देह व्यापार का आरोप लगाते हुए नाबालिग का नाम कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकम द्वारा सार्वजनिक तौर से उजागर किया गया था, जिस पर भाजपा द्वारा आरोप लगाया गया कि यह संविधान के ख़िलाफ़ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Also Read

दुर्घटनाग्रस्त प्लेन हो रहा कबाड़, अमेरिकन कंपनी को ही बेचा जाएगा राज्य सरकार की जांच रिपोर्ट में तथ्य सामने आए थे कि प्लेन की सुरक्षित लैंडिग की जिम्मेदारी कैप्टन माजिद अख्तर की थी -ट्रैक सी जी न्‍यूज संभाग प्रमुख महेन्‍द्र  श्रीवास्‍तव

32 पन्नों की हिंदी-अंग्रेजी और 20 की विज्ञान-गणित की रहेगी उत्तरपुस्तिका माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल (बोर्ड) इस साल से 10वीं और 12 के विद्यार्थियों को पूरक परीक्षा कापी नहीं देगा  -ट्रैक सी  जी न्‍यूज संभाग प्रमुख महेन्‍द्र श्रीवास्‍तव

उमा भारती ने शराब की दुकान के सामने बांधी गाय, मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दी प्रतिक्रिया -ट्रैक सी जी न्‍यूूज संभाग  प्रमुख महेनद्र श्रीवास्‍तव उमा भारती ने शराब की दुकान के सामने गायों को बांधकर घास