RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

February 7, 2023 9:20 PM

RNI - NO : CHHHIN/2015/65786

February 7, 2023 9:20 PM

सरस्वती साइकिल योजना के तहत दो सौ छात्राओं को मिली साइकिल

⭕ विधायक नाग ने दो सौ छात्राओं को थमाई साइकिल की चाबी

⭕ छात्राओं को प्रोत्साहित करने एवं उन्हें सशक्त बनाने का एक प्रयास- अनूप नाग

You might also like

⭕ छात्राओं ने जताया मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और विधायक अनूप नाग का आभार

ट्रैक सीजी/अंतागढ़:
माध्यमिक शिक्षा ग्रहण करने के पश्चात् उच्च शिक्षा हेतु लालायित छात्राओ के लिये सरस्वती सायकल योजना काफी मददगार साबित हई है। जिन छात्राओ को पारिवारिक परिस्थितिवश सायकल खरीदने में कठिनाईयां महसूस होती थी, उन छात्राओ के लिये यह योजना सफल सिद्ध हुई है। अब छात्राएं भी सायकल चलाकर स्कूल तक आसानी से पहुंच रही है। स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल अंतागढ़ के कक्षा 9वीं में अध्ययनरत 200 से अधिक बालिकाओं को स्कूल प्रांगण में क्षेत्रीय विधायक एवं कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अनूप नाग के द्वारा सरस्वती साइकिल वितरण किया गया ।

सरस्वती साइकिल मिलने पर छात्राएं अत्यधिक प्रसन्न हुई। छात्राओं ने बताया कि पहले उनके परिजन उन्हें स्कूल तक पहुंचाने आते थे, कभी उन्हे स्कूल पहुंचने में विलंब भी हो जाता था, अब साइकिल मिलने से वे स्वयं समय पर स्कूल पहुंच जायेंगे। छात्राओं ने बताया कि करोना काल के दौरान वे जिस स्कूल में अध्ययनरत थी, उसके बंद होने से उन्हें आगे की पढ़ाई की चिंता थी, ऐसे समय में प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विधायक अनूप नाग के प्रयासों से स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोलकर हमारी पढ़ने की ललक को बनाये रखने का सार्थक प्रयास किया है, साथ ही शासकीय स्कूलों में मिलने वाली तमाम सुविधाएं उपलब्ध कराने के साथ सरस्वती साइकिल भी प्रदान किया जा रहा है, निःशुल्क सरस्वती साइकिल मिलने से अपनी खुशी का इजहार करते हुए बालिकाओं ने तहे दिल से मुख्यमंत्री एवं विधायक अनूप नाग के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करते हुए धन्यवाद ज्ञापित किए हैं ।

*साइकिल की रफ्तार के साथ बालिकाओं के शैक्षिक परिवेश में भी रफ्तार आए :- विधायक*

विधायक अनूप नाग ने इस दौरान बालिकाओं को संबोधित करते हुए सभी को बधाई एवं शुभकामनाएं दी और उन्होंने कहा की यह योजना छत्तीसगढ़ सरकार की अभिनव योजना है उन्होंने कहा बालिका शिक्षा को प्रोत्साहित करने और बालिका को सशक्त बनाने के साथ-साथ वे शिक्षा से वंचित ना हो यह मकसद सरकार का है जिसे सरकार पूरा कर रही है साइकिल के रफ्तार के साथ-साथ बालिकाओं के शैक्षिक व सामाजिक परिवेश में भी रफ्तार आए यह सोच यह प्रयास हम सबका है आने वाले वक्त में भविष्य इन्हीं बालिकाओं के हाथ में है, नई ऊंचाइयों को छुए और नए प्रतिमान बालिकाएं स्थापित करें।

नाग ने कहा की शासन की अनेकों योजनाएं हैं तेंदूपत्ता श्रमिकों के बच्चों को तथा श्रम विभाग के अन्य दूसरी योजनाओं के तहत भी ऐसी छात्राओं को लाभ मिलता है तथा उन्हें कई सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जाती हैं जिनका लाभ लेकर आने वाले समय में भविष्य के लिए बेहतर प्रदर्शन अपने जीवन में करते हुए अच्छा मुकाम हासिल कर सकती हैं।

*साइकिल से छात्राओं को मिलती है पढ़ने की प्रेरणा :- ठक्कर*

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता मुकेश ठक्कर ने कहा की बालिकाओं को सरकार के इस योजना का लाभ मिलने से इनके अंदर नई स्फूर्ति का संचार तो होता ही है आगामी सत्र के लिए आने वाले ने छात्राओं को भी प्रेरणा मिलती है और सरकार की इस योजना से लाभान्वित छात्राओं के ऊपर इसका सकारात्मक असर भी पड़ता है, उन्होंने सभी उपस्थित आगंतुकों का आभार व्यक्त किया और सरकार के इस योजना के लिए सरकार और विधायक अनूप नाग के प्रति साधुवाद व्यक्त किया।

*इनकी रही मौजूदगी*

जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष दुर्गेश ठाकुर, जिला कांग्रेस मिडिया प्रभारी विश्राम गावड़े, आसुराम आंचला, अविनाश गणविरे, स्कूल की प्राचार्या समेत शिक्षक गण एवं छात्राएं मौजूद थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Also Read

दुर्घटनाग्रस्त प्लेन हो रहा कबाड़, अमेरिकन कंपनी को ही बेचा जाएगा राज्य सरकार की जांच रिपोर्ट में तथ्य सामने आए थे कि प्लेन की सुरक्षित लैंडिग की जिम्मेदारी कैप्टन माजिद अख्तर की थी -ट्रैक सी जी न्‍यूज संभाग प्रमुख महेन्‍द्र  श्रीवास्‍तव

32 पन्नों की हिंदी-अंग्रेजी और 20 की विज्ञान-गणित की रहेगी उत्तरपुस्तिका माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल (बोर्ड) इस साल से 10वीं और 12 के विद्यार्थियों को पूरक परीक्षा कापी नहीं देगा  -ट्रैक सी  जी न्‍यूज संभाग प्रमुख महेन्‍द्र श्रीवास्‍तव

उमा भारती ने शराब की दुकान के सामने बांधी गाय, मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दी प्रतिक्रिया -ट्रैक सी जी न्‍यूूज संभाग  प्रमुख महेनद्र श्रीवास्‍तव उमा भारती ने शराब की दुकान के सामने गायों को बांधकर घास